प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज रानी कमलापति रेलवे स्टेशन का उद्घाटन करेंगे। भोपाल के हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर रानी कमलापति रेलवे स्टेशन कर दिया गया है। हबीबगंज स्टेशन का नाम आखिरी हिंदू आदिवासी रानी कमलापति के नाम पर रखने का केंद्र का यह फैसला मध्यप्रदेश सरकार की अनुशंसा पर है।

अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे की तर्ज पर विकसित है यह विश्वस्तरीय मॉडल स्टेशन 
मध्यप्रदेश का रानी कमलापति रेलवे स्टेशन देश का पहला विश्व स्तरीय मॉडल स्टेशन है, जहां अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे की तर्ज पर यात्रियों को सभी सुविधाएं मुहैया कराई गईं हैं। इस स्टेशन को सार्वजनिक-निजी भागीदारी के तहत विकसित किया गया है। रानी कमलापति स्टेशन परियोजना की कुल लागत लगभग 450 करोड़ रुपये है।

भीड़ को नियंत्रित करने के लिए एंट्री और एग्जिट गेट अलग-अलग हैं। प्लेटफॉर्म तक पहुंचने के लिए स्टेशन पर एस्केलेटर और लिफ्ट लगाए गए हैं। ओपन कॉनकोर्स में 700 से 1,100 यात्रियों के बैठने की व्यवस्था की गई है। ट्रेनों की आवाजाही की जानकारी के लिए पूरे स्टेशन पर अलग-अलग भाषाओं के डिस्प्ले बोर्ड लगाए गए हैं। स्टेशन पर फूड कोर्ट, रेस्तरां, वातानुकूलित प्रतीक्षालय, छात्रावास, वीआईपी लाउंज भी होगा। चौबीसों घंटे निगरानी रखने के लिए स्टेशन पर लगभग 160 सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज ने प्रधानमंत्री मोदी का दिया धन्यवाद 
मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल के हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम आदिवासी रानी रानी कमलापति के नाम पर रखने के लिए पीएम मोदी को धन्यवाद दिया। प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘मैं भोपाल के हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम आदिवासी रानी रानी कमलापति के नाम पर रखने के लिए पीएम मोदी को धन्यवाद देता हूं। वह गोंड समाज की शान थीं। वह आखिरी हिंदू रानी थीं।’ मध्यप्रदेश सरकार ने शुक्रवार को केंद्र को पत्र लिखकर भोपाल के हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम आदिवासी रानी रानी कमलापति के नाम पर रखने को कहा था।

‘जनजातीय गौरव दिवस’ के तौर पर मनाया जाएगा बिरसा मुंडा की जयंती
भारत सरकार ने घोषणा की है कि भगवान बिरसा मुंडा की जयंती को जनजातीय गौरव दिवस के रूप में मनाया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सुबह 9:45 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए रांची में भगवान बिरसा मुंडा स्मृति उद्यान सह स्वतंत्रता सेनानी संग्रहालय का उद्घाटन करेंगे। पीएम ने हमेशा जनजातीय समुदायों के अमूल्य योगदान, विशेष रूप से भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में उनके बलिदान पर जोर दिया है।

पीएम मोदी जनजातीय समुदाय को देंगे सौगात
‘जनजातीय गौरव दिवस’ के अवसर पर भोपाल के जंबूरी मैदान में आयोजित किए जाने वाले ‘जनजातीय गौरव दिवस महासम्मेलन’ में भाग लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मध्य प्रदेश का दौरा करेंगे जहां वह दोपहर लगभग एक बजे जनजातीय समुदाय के कल्याण के लिए अनेक पहलों का शुभारंभ करेंगे। प्रधानमंत्री जनजातीय गौरव दिवस महासम्मेलन में मध्यप्रदेश में ‘राशन आपके ग्राम’ योजना का शुभारंभ करेंगे। इसका उद्देश्य जनजातीय समुदाय के लाभार्थियों को हर महीने उनके अपने गांवों में पीडीएस राशन का मासिक कोटा पहुंचाना है, ताकि उन्हें अपना राशन लेने के लिए उचित मूल्य की दुकान पर न जाना पड़े।अपने इस दौरे के दौरान प्रधानमंत्री ‘विशेष रूप से कमजोर जनजातीय समूहों’ के नवनियुक्त शिक्षकों को नियुक्ति पत्र भी सौंपेंगे। मध्यप्रदेश के राज्यपाल मंगूभाई छगनभाई पटेल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार, नरेंद्र सिंह तोमर, ज्योतिरादित्य एम सिंधिया, केंद्रीय राज्य मंत्री प्रह्लाद एस पटेल, फग्गन सिंह कुलस्ते और डॉ. एल मुरुगन भी इस अवसर पर उपस्थित रहेंगे।

पीएम मोदी का कार्यक्रम

दोपहर 12.35 बजे भोपाल एयरपोर्ट पहुंचेंगे
दोपहर 1 बजे बीयू हेलीपैड पहुंचेंगे
दोपहर 1.10 बजे जंबूरी मैदान पहुंचेंगे जहां वह जनजातीय सम्मेलन में शामिल होंगे
दोपहर 3.20 बजे हबीबगंज रेलवे स्टेशन पहुंचेंगे
शाम 4.20 बजे हबीबगंज से दिल्ली के लिए निकलेंगे

Leave a Reply