कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले में भाजपा युवा मोर्चा के जिला सचिव प्रवीण नेट्टारू की हत्या का मामला तूल पकड़ रहा है। नेट्टारू की बेल्लारे क्षेत्र में हत्या कर दी गई थी। हत्या के विरोध में आज बेल्लारे, पुत्तूर, सुल्या, कड़ाबा में बंद रखा गया है। हिंदू संगठनों ने हत्या में पीएफआई और एसडीपीआई का हाथ होने का शक जताया है।

केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी ने कहा कि आरंभिक रिपोर्ट व कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि हत्या के पीछे पीएफआई व एसडीपीआई का हाथ हो सकता है। उन्होंने आरोप लगाया है कि केरल सरकार पीएफआई और एसडीपीआई जैसे संगठनों को बढ़ावा दे रही है। वहीं, कर्नाटक में कांग्रेस इन्हें प्रोत्साहित कर रही है। हमारी राज्य सरकार इन्हें काबू में करेगी दोषियों पर कार्रवाई होगी।

पूर्व में हुई हत्याओं की तर्ज पर वारदात : सीएम
कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मई ने कहा है कि हत्या की घटना केरल सीमा के समीप हुई है। हमारी पुलिस केरल पुलिस के संपर्क में है। डीजीपी केरल के डीजीपी से बात करेंगे, वहीं मेंगलुरु के एसपी ने कासरगोद के एसपी से बात की है। यह सुनियोजित घटना प्रतीत हो रही है, क्योंकि पूर्व में हुई हत्याओं की तरह ही यह वारदात की गई है। कर्नाटक पुलिस ने भाजपा नेता नेट्टारू की हत्या के मामले की जांच के लिए पांच स्पेशल टीमें गठित की हैं। तीन टीमों को केरल, मदिकेरी और हसन भेजा गया है।

हत्या का उदयपुर कनेक्शन
एक मीडिया रिपोर्ट में नेता भाजपा नेता नेट्टारू की हत्या का उदयपुर कनेक्शन होने का भी दावा किया जा रहा है। कहा गया है कि नेट्टारू ने उदयपुर के टेलर कन्हैया लाल की हत्या के विरोध में  29 जून को सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखी थी। इसमें एक फोटो भी साझा किया गया था। इसमें कहा गया था कि सिर्फ राष्ट्रवादी विचारधारा का समर्थन करने के कारण एक टेलर की गला काटकर हत्या कर दी गई।

मंगलवार रात हुई थी हत्या, कुल्हाड़ी व  तलवार से किए वार
बता दें, कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले में भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ता प्रवीण नेट्टारू की अज्ञात हमलावरों ने मंगलवार रात हत्या कर दी थी। नेट्टारू भाजपा युवा मोर्चा के जिला सचिव थे। जानकारी के मुताबिक नेट्टारू मंगलवार की रात अपनी दुकान बंद कर रहे थे तभी बाइक पर आए अज्ञात हमलावरों ने उन पर कुल्हाड़ी और तलवार से हमला किया। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए और अस्पताल ले जाते समय उनकी मौत हो गई।

अंतिम यात्रा में जनसैलाब उमड़ा
नेट्टारू का शव बुधवार सुबह कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले के सुलिया तालुक में स्थित उनके पैतृक गांव बेल्लारे लाया गया। अंतिम यात्रा के दौरान जनसैलाब उमड़ पड़ा। हत्या को लेकर हिंदूवादी संगठनों में गहरा आक्रोश है। मुख्यमंत्री बोम्मई ने ट्वीट कर कहा कि दक्षिण कन्नड़ जिले से हमारी पार्टी के कार्यकर्ता प्रवीण नेट्टारू की बर्बर हत्या निंदनीय है। इस तरह के जघन्य कृत्य के अपराधियों को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा और कानून के तहत दंडित किया जाएगा।

Leave a Reply