बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों में आज भारतीय पुरुष हॉकी टीम सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की करने के लिए वेल्स के खिलाफ मैदान में उतरेगी। मनप्रीत सिंह की अगुआई में अब तक भारतीय टीम ने शानदार खेल दिखाया है। टीम अब तक इस टूर्नामेंट में अजेय रही है।

पहले मैच में भारत ने घाना को 11-0 से हराया था। वहीं, दूसरे मैच में टीम ने इंग्लैंड के खिलाफ 4-4 से ड्रॉ खेला था। इस मैच में भी भारतीय टीम 3-0 से आगे चल रही थी। इसके बाद इंग्लैंड ने वापसी करते हुए 4-4 से स्कोर बराबर किया था। वहीं, तीसरे मैच में टीम इंडिया ने कनाडा को 8-0 से रौंद दिया।

भारतीय पुरुष टीम पूल-बी में पहले नंबर पर

टूर्नामेंट में अजेय रहने के साथ ही भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने सेमीफाइनल के लिए अपना दावा मजबूत कर लिया है। कनाडा के खिलाफ जीत के बाद टीम इंडिया अपने ग्रुप (पूल-बी) में पहले नंबर पर पहुंच गई। भारत के फिलहाल तीन मैचों में 7 अंक हैं। इंग्लैंड की टीम पूल बी में दूसरे स्थान पर खिसक गई।

इंग्लैंड को शीर्ष पर फिर से जगह बनाने के लिए अपने अगले मैच में कनाडा के खिलाफ 12-0 से जीत हासिल करनी होगी। वेल्स पूल-बी में तीसरे स्थान पर है। वहीं, पूल-ए में ऑस्ट्रेलियाई टीम टॉप पर है। दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड के समान 4-4 अंक हैं, लेकिन बेहतर गोल डिफ्रेंस की वजह से न्यूजीलैंड दूसरे और दक्षिण अफ्रीका तीसरे स्थान पर है। पाकिस्तान की टीम पूल-ए में चौथे स्थान पर है।

स्वर्ण पदक है निशाने पर

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने राष्ट्रमंडल खेलों में पहला स्वर्ण पदक जीतने के इरादे से मैदान पर उतरी है। कप्तान मनप्रीत की अगुआई में भारत ने पिछले साल टोक्यो ओलंपिक में 41 साल बाद कांस्य पदक जीता था। इस बार टीम मनप्रीत की अगुआई में राष्ट्रमंडल खेलों में ऑस्ट्रेलियाई दबदबे को खत्म करना चाहती है। ऑस्ट्रेलिया ने अब तक सभी छह स्वर्ण पदक जीते हैं।

गोल्ड कोस्ट 2018 में पदक जीतने से असफल रही भारतीय टीम सफलता की भूखी है। भारत ने 2010 और 2014 में रजत पदक जीता था। पिछले कुछ वर्षों में ऑस्ट्रेलियाई निवासी मुख्य कोच ग्राहम रीड के मार्गदर्शन में भारतीय टीम ने अपने आप में काफी सुधार किया है। राष्ट्रमंडल खेलों में भारत को ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और इंग्लैंड जैसे कड़े प्रतिद्वंद्वियों की चुनौती से पार पाना है।

Leave a Reply