राजधानी में मंकीपॉक्स का तीसरा मामला सामने आया है। एक और नाइजीरियाई व्यक्ति संक्रमित पाया गया है। इससे पहले सोमवार को दिल्ली में 35 वर्षीय एक नाइजीरियाई व्यक्ति में मंकीपॉक्स का संक्रमण मिला था। उसने हाल में कोई विदेश यात्रा नहीं की है।

आज(मंगलवार) मिले संक्रमित के साथ ही दिल्ली में मंकीपॉक्स का यह तीसरा मामला है। संक्रमित व्यक्ति को एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एलएनजेपी अस्पताल मंकीपॉक्स के इलाज के लिए नोडल अस्पताल है। सूत्रों के अनुसार उसे पिछले पांच दिनों से बुखार था और शरीर पर फफोले पड़ गए थे।  उसके सैंपल को जांच के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी), पुणे भेजा गया था। रिपोर्ट सोमवार शाम को आई जिसमें वह संक्रमित पाया गया है।

25 दिनों में ठीक हो गया दिल्ली में मंकीपॉक्स का पहला मरीज

राजधानी दिल्ली के लोकनायक अस्पताल में भर्ती पहले मंकीपॉक्स संक्रमित मरीज को आज छुट्टी मिल गई है। अस्पताल के एमडी डॉ. सुरेश कुमार ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मरीज पूरी तरह से ठीक है। लोकनायक अस्पताल में भर्ती पहले मंकीपॉक्स संक्रमित मरीज को आज छुट्टी मिल गई है। मरीज की तबीयत ठीक है, उसके शरीर के लाल दाने भी ठीक हो गए हैं। लोकनायक अस्पताल के एमडी डॉ. सुरेश कुमार ने बताया कि मंकीपॉक्स का पहला मरीज ठीक हो गया है। उसे छुट्टी दे दी गई है।

राजधानी में तीसरा और देश में आठवां केस

देश में अब तक मंकीपॉक्स के आठ मामले सामने आए हैं। इनमें से पांच मरीजों का विदेश यात्रा का इतिहास है। स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मडाविया ने बताया है कि संक्रमण को हराने के लिए नेशनल टास्क फोर्स का गठन किया गया है। उन्होंने बीमारी के प्रसार को रोकने, परीक्षण किट और टीका विकसित करने के लिए उठाए जा रहे विभिन्न कदमों के बारे में जानकारी दी।

तीन निजी अस्पतालों को आइसोलेशन रूम बनाने का निर्देश

संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए चिकित्सा अधीक्षक नर्सिंग होम, दिल्ली सरकार ने तीन निजी अस्पतालों को मंकीपॉक्स के मामलों के लिए कम से कम दस आइसोलेशन रूम बनाने का निर्देश दिया है। जिनमें से पांच रूम संदिग्ध मामलों की निगरानी और पांच रूम संक्रमित मरीजों के लिए रखे जाएंगे।

Leave a Reply