पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अपने नए बंगले 12 जनपथ में शिफ्ट हो चुके हैं। 25 जुलाई को उनका कार्यकाल खत्म हुआ था। इसी दिन उन्हें और देश की प्रथम महिला नागरिक यानी सविता कोविंद को राष्ट्रपति भवन से औपचारिक विदाई दी गई थी। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने खुद पूर्व राष्ट्रपति कोविंद की विदाई समारोह की आगवानी की।

राष्ट्रपति का कार्यकाल खत्म होने के बाद भी रामनाथ कोविंद को प्रोटोकॉल मिला हुआ है। उन्हें कई तरह की सुविधाएं सरकार की तरफ से दी जाएंगी। इन्हीं सुविधाओं में से एक 12 जनपथ स्थित सरकारी बंगला भी है। पूर्व राष्ट्रपति कोविंद परिवार के साथ अब इसी बंगले में शिफ्ट हो गए हैं। यहां अब उनसे मुलाकात करने के लिए मेहमान भी आने लगे हैं।

पहले पूर्व राष्ट्रपति के नए बंगले के बारे में जान लीजिए 
पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का नया पता अब दिल्ली का 12 जनपथ स्थित बंगला है। ये वही बंगला है, जहां कुछ साल पहले तक रामविलास पासवान रहा करते थे। पासवान इस बंगले में दो दशक से ज्यादा समय तक रहे। उनके निधन के बाद परिवार ने इसे खाली कर दिया। अब ये बंगला रामनाथ कोविंद को आवंटित हुआ है।

बंगले को पूरी तरह से नया रूप दिया जा चुका है। पूर्व राष्ट्रपति की बेटी स्वाति कोविंद ने बंगले के रेनोवेशन का काम खुद देखा। इस बंगले के बगल यानी 10 जनपथ पर कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी का आवास है।

नए बंगले में पहुंचे पूर्व राष्ट्रपति के मेहमान
25 जुलाई को 12 जनपथ में पूरी तरह से शिफ्ट होने के बाद 27 जुलाई से पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलने वालों का तांता लगने लगा। सबसे पहले पहली महिला राष्ट्रपति रहीं प्रतिभा देवी सिंह पाटिल ने 12 जनपथ पहुंचकर पूर्व राष्ट्रपति कोविंद से मुलाकात की। प्रतिभा पाटिल के साथ उनकी बेटी भी थीं। दोनों ने बुके देकर रामनाथ कोविंद का अभिवादन किया। कोविंद के साथ उनकी पत्नी सविता कोविंद और बेटी भी थीं।

इसके बाद पूर्व राष्ट्रपति कोविंद से मुलाकात करने वालों में पंजाब के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित शामिल, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतामरण रहीं। केंद्रीय मंत्री अपने साथ आम और सेब की टोकरी भी लेकर पहुंची थीं। उन्होंने पूर्व राष्ट्रपति कोविंद को आम और सेब की टोकरी के साथ-साथ बुके भेंट कर अभिवादन किया।

अब जानिए रिटायरमेंट के बाद राष्ट्रपति कोविंद को क्या-क्या सुविधाएं मिलेंगी? 
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को रिटायरमेंट के बाद 2.5 लाख रुपये प्रतिमाह पेंशन मिलेगी। इसके अलावा 60 हजार रुपये प्रतिमाह सेक्रेटेरियल स्टाफ और आफिस खर्च के लिए दिया जाएगा। इसके अलावा सरकार की तरफ से दिया गया बंगला भी आजीवन फ्री रहेगा। मतलब इसके लिए कोविंद को किराया नहीं देना होगा।

पूर्व राष्ट्रपति के तौर पर कोविंद को दो लैंडलाइन, मोबाइल फोन, ब्रॉडबैंड और इंटरनेट कनेक्शन भी दिया गया है। इसके अलावा बिजली और पानी का बिल भी नहीं देना पड़ेगा। कोविंद को ड्राइवर और कार भी दी गई है।

ये सुविधाएं भी दी गईं

  1. स्वास्थ्य सुविधाएं पूरी तरह से फ्री होंगी।
  2. ट्रेन और हवाई यात्रा मुफ्त होगी। पूर्व राष्ट्रपति के साथ एक अन्य स्टाफ को भी ये सुविधा मुफ्त दी जाएगी।
  3. पांच लोगों का पर्सनल स्टाफ दिया गया है। इसके अलावा सभी सुविधाओं से युक्त मुफ्त गाड़ी दी गई है।
  4. दिल्ली पुलिस की सिक्योरिटी दी गई है। दो सचिव भी हैं।

 

Leave a Reply