ग्वालियर और चंबल में अब बंदूक,कट्‌टे, पिस्टल के बाद हथगोलों का उपयोग किया जा रहा हैं । देर रात इंजीनियर के निर्माणाधीन नए घर को उड़ाने के लिए हथगोले फेंके गए थे। किस्मत से एक भी हथगोला फटा नहीं है, नहीं तो बड़ा हादसा हो सकता था। सुबह जब इंजीनियर का परिवार छत पर पहुंचा, तो हथगोले देखकर दंग रह गए। मामले की जानकारी पुलिस को दी गई है। जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। तत्काल BDDS को कॉल कर बुलाया गया। खबर मिलते ही BDDS की टीम मौके पर पहुंची। छत पर पड़े दोनों हथगोलों को डिफ्यूज किया। इसके बाद उन्हें जब्त कर थाने ले जाया गया। घटना गिरवाई की बाबा पहाड़ी की है। पुलिस ने अज्ञात बदमाशो के खिलाफ मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।दरअसल गिरवाई थाना क्षेत्र स्थित बाबा की पहाड़ी के रहने वाले मनोज कुशवाह इंजीनियर हैं। वह ई कॉम एक्सप्रेस लिमिटेड कंपनी में आईटी हेड हैं। गिरवाई बाबा की पहाड़ी पर उनका नया घर बना है। वह सामने के मकान में अभी किराए से रहते हैं। मनोज नए घर की छत पर सफाई के लिए गया, तो देखा कि वहां कुछ विस्फोटक पदार्थ पड़ा था। विस्फोटक पदार्थ देखते ही उनके होश उड़ गए। शोर मचाया तो आस-पास के लोग भी पहुंच गए। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। जांच के बाद BDDS टीम को बुलवा लिया। मौके पर पहुंची BDS की टीम ने देख कर बताया की यह हथगोले हैं जिसके बाद हथगोलों को निगरानी में लेकर BDDS की टीम ने हथगोलों को डिफ्यूज किया। पुलिस ने डिफ्यूज हथगोले अपनी निगरानी में लेकर थाने ले जा कर जांच शुरू कर दी है।

Leave a Reply